पाकिस्तान जाएगा कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के 50 युवक-युवतियों का एक शिष्टमंडल

कुरुक्षेत्र.

भारत और पाकिस्तान के आपसी संबंधों के बीच कड़वाहट को कम करने के उद्देश्य से शीघ्र ही हरियाणा सरकार की ओर से कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के 50 युवक-युवतियों का एक शिष्टमंडल युवा पाकिस्तानियों से आपसी विचार-विमर्श, सौहार्द एवं भाईचारा कायम करने के उद्देश्य से भेजा जाएगा।

ये घोषणा हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष कुलदीप शर्मा ने आज कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में चल रही दो दिवसीय भारतीय छात्र संसद हरियाणा अध्याय के समापन समारोह में शिरकत करने के बाद इसकी कामयाबी पर सुखद प्रतिक्रिया एवं भावी योजनाओं हेतु रहस्योद्घाटन करने के उद्देश्य से सीनेट हाल में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए की। उन्होंने कहा कि आज न केवल विश्व के सबसे लोकतांत्रिक देश भारत के युवकों को जागृत करना है, बल्कि सरहदों के पार भी अन्य देशों के युवकों को भी लोकतांत्रिक, संसदीय तथा व्यस्थापकीय मूल्यों की रक्षा हेतु प्रेरित करना आज वक्त की आवाज है।

कुलदीप शर्मा ने आगे कहा कि भारतीय छात्र संसद का हरियाणा अध्याय अपने शैशवकाल में है और इसके समक्ष अनेक चुनौतियां भी आएंगी, लेकिन हम रुकेंगे नहीं, टूटेंेगे नहीं, झुकेंगे नहीं, क्योंकि हम युवा सार्थक ऊर्जा से लबरेज हैं। उन्होंने कहा कि यह चिंता का विषय है कि निरंतर जीवन मूल्यों का विघटन सामाजिक सरोकार से विमुखता और संसदीय तथा लोकतांत्रिक और व्यवस्था में टूटन, घुटन, अनियमितता, मर्यादा व मूल्यों का हनन जैसे मामलों में सुखद बदलाव तभी संभव है, जब सियासत में युवा शक्ति सशक्त होकर भागीदारी सुनिश्चित करेगी। तभी देश की कायाकल्प होगी और इक्सवीं सदी का भारत वैश्विक स्तर पर एक महाशक्ति के रुप में स्थापित होगा। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी भारत की है और भारत 65 प्रतिशत युवा आबादी का देश है। ये युवा दौलत किसी मुल्क के पास नहीं है।

अध्यक्ष ने कहा कि छात्र संगठनों के भविष्य में चुनावों की संभावनाओं के मद्देनजर मैं इस बात का पक्षधर हूं कि ये होने चाहिएं और स्वस्थ लोकतांत्रिक मूल्यों की हिफाजत में ये जरूरी है कि युवा छात्र भी अभिव्यक्ति के मंच पर भारतीय छात्र संसद से गुजरकर स्वस्थ राजनैतिक परंपराओं व मूल्यों को स्थापित करें।

कुलदीप शर्मा ने कहा कि भारतीय छात्र संसद के हरियाणा अध्याय के माध्यम से हम संसदीय कार्यप्रणाली की जानकारी युवाआंे का व्यावहारिक रुप से देने के लिए 90 युवक-युवतियांे को डेमो के रूप में हरियाणा विधानसभा मेंे बैठाकर प्रशिक्षण देंगे, अनुभव देंगे, ताकि वे सियासत के गुर सीख सकें।