अन्ना हजारे की राह पर चले कांग्रेस के विधायक

शिमला।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा में सोमवार को कांग्रेस के विधायकों को सबसे ज्यादा खटक रहे अन्ना हजारे की टोपी का ही सहारा लेना पड़ा। सदन में बिंदल मामले पर कांग्रेस लगातार वाकआउठ कर रही थी। सोमवार को विधानसभा में बजट पेश होना था, इसलिए कांगे्रस ने गांधीगिरी अपनाते हुए अन्ना हजारे की टोपी पहनने से कोई परहेज नहीं किया। आज कांग्रेस के सभी विधायक विरोध स्वरून अन्ना टोपी पहन कर सदन में दाखिल हुए।

जैसे ही विधानसभा आरंभ हुई, विपक्ष की नेता विद्या स्टोक्स अपने स्थान पर खड़ी हो गई और सभा अध्यक्ष तुलसी राम से कहा कि हमारा विरोध बिंदल मामले पर जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि सदन की मर्यादा को देखते हुए हम सदन में बैठे रहेंगे और बजट भाषण सुनते रहेंगे। यह हमारा विरोध करने का तरीका है।

इसके बाद मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने वर्ष 2१२-१३ का बजट पेश किया। कांग्रेस का यह विरोध का यह लगातार छटा दिन था। कांग्रेस स्वास्थ्य मं़त्री बिंदल पर लगे आरोपों की सीबीआई जांच और उनकी बर्खास्तगी की मंाग कर रही है। इससे पहले कांग्रेस ने 15 मार्च को भी मुंह पर काली पट्टियां बांध कर विरोध स्वरूप प्रदर्शन किया था। जबकि मुख्यमंत्री धूमल इस मामले में बिंदल को क्लीन चिट दे चुके हैं।